राहत एवं बचाव कार्य मे नही होगी धन की कमी

Feature_26-Aug-2016_02

मा० मंत्री लोक निर्माण, सिंचाई एवं जल संसाधन शिवपाल सिंह यादव ने गाजीपुर में 25 अगस्त, 2016 को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। तत्पश्चात मा० मंत्री ने लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन मे बाढ़ से सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक एवं समाचार पत्र/न्यूज चैनल के प्रतिनिधियों के साथ वार्ता की। मा० मंत्री जी के साथ प्रमुख सचिव सुरेश चन्द्रा भी साथ थे। उन्होने कहा कि बाढ़ प्रभावित इलाको हेतु 3 एन०डी०आर०एफ० एवं पी०ए०सी० की दो टीमे लगायी गयी है जो लोगो को राहत सामग्री पहुंचाने एवं अत्यधिक पानी से घिरे लोगो को बाहर निकालने का कार्य कर रही है। बाढ़ चैकियों पर राशन वितरण के अलावा लंगर भी चलाये जा रहे है। जिससे कोई व्यक्ति भूखा न रहने पाये।
गाजीपुर जिले मे 322 गांव के लगभग 3 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित है।लेखपालों के हड़ताल के बावत पूछने पर उन्होने कहा कि उनके स्थान पर किसी विभाग के अन्य कर्मियों को लगाकर सहायता उपलब्ध कराया जाय। उन्होने बाढ़ पीड़ितो को प्रति परिवार 20 किलो आटा, 20 किलो चावल, 5 लीटर मिट्टी तेल, 15 किलो आलू, नमक, माचिस, मोमबत्ती आदि वितरित करने का निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिया। इसके साथ ही पशुओं को चारा पांच किलो प्रति जानवर प्रति दिन के हिसाब से उपलब्ध कराने का निर्देश दिया तथा इसमे ग्राम प्रधानों का भी सहयोग लेने हेतु निर्देशित किया। मीडिया र्किर्मयो द्वारा सड़को के बावत पूछे जाने पर उन्होने कहा कि इस समय सरकार का ध्यान पहले बाढ़ पीड़ितो को राहत पहुचाना है उसके बाद ही अन्य कार्य कराये जायेगें। उन्होने आटा सीधे फ्लोर मिल से मंगाने हेतु निर्देशित किया। उन्होने अधिकारियों को चेताया कि खाद्यान्न वितरण मे किसी प्रकार की गड़बड़ी न होने पाये । उन्होने बताया कि बाढ़ स्थिर हो गयी है परन्तु इसके उपरान्त बीमारियों का संक्रमण हो सकता है उन्होने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से एलर्ट रहते हुए बचाव करने हेतु निर्देशित किया। पशुओ मे भी अनेक रोग उत्पन्न होने का खतरा रहता है इस हेतु पशु चिकित्सा विभाग केा भी सतर्क रहने हेतु निर्देश दिया इस मौके पर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के अनुपस्थित रहने तथा उनके कार्य मे उदासीनता की शिकायत पर उन्होने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निलंबित करने का निर्देश दिया। उन्होने अधिकारियों को सचेष्ट किया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों मे कहीं पर भी कोई व्यक्ति भूखा न रहने पाये इस सम्बन्ध मे यदि शिकायत पायी जायेगी तो सम्बन्धित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

Aug 26, 2016 | Posted by in ख़बरों में | 0 comments
Premium Wordpress Themes by UFO Themes